जीएसटी रजिस्ट्रेशन क्यों होता है

जीएसटी रजिस्ट्रेशन क्यों होता है


GST REGESTRATION

हेलो दोस्तों,

आज हम जीएसटी रजिस्ट्रेशन के बारे में बात करेंगे कि यह रजिस्ट्रेशन क्यों होता है और इसके दायरे में कौन-कौन आता है दोस्तों जीएसटी में जितना भी काम है चाहे वह फोन का बिजनेस या फिर किसी बड़ी कंपनी का बिजनेस अब उसे जीएसटी के दायरे में काम करना होगा पहले कई तरह के टैक्स लगाए जाते थे जैसे 2 परसेंट २.५ परसेंट 5 परसेंट कई तरह के टैक्स होते थे इसीलिए अब जीएसटी में केवल और केवल एक ही तरह का टैक्स देना होगा जीएसटी में सारा का ऑनलाइन आ गया है रिटर्न टैक्स बाकी काम की ऑनलाइन आ गया है चलिए अब हम बात करते हैं जीएसटी रजिस्ट्रेशन क्यों होता

अगर किसी को अपना नया काम स्टार्ट करना है तो उसको जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना होगा क्योंकि इसमें जब वह व्यक्ति माल खरीदेगा तो दूसरे व्यक्ति को टैग देगा पर जब वह व्यक्ति माल बेचेगा तो उस पर भी वह टैक्स लेगा यदि किसी को भी अपना काम या बिजनेस आगे बढ़ाना है तो जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराना होगा बिना रजिस्ट्रेशन कराएं वह अपना काम बड़े लेवल पर नहीं ले जा सकता है इसमें रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कुछ प्रोसेस होते हैं और कुछ आईडीएस भी लगती हैं लेकिन दोस्तों यह आपको ध्यान रखना होगा कि अगर कोई भी काम करना है तो जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराना ही होगा अगर जीएसटी रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ होगा तो आप अपना काम बड़े लेवल पर नहीं ले जा सकते हैं जिसकी वजह से आपको अपना काम छोटे से लेवल पर ही करना होगा और हर इंसान चाहता है कि उसका काम बड़े लेवल पर पहुंचे।।


GST

जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आधार कार्ड पैन कार्ड एड्रेस प्रूफ कैंसिल चेक पासपोर्ट साइज फोटो लगती है और इसका रजिस्ट्रेशन आप अपने हाथ से भी कर सकते हैं अगर आपको आता हो तो अगर आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना है तो आप मुझे कांटेक्ट भी कर सकते हैं मैं रजिस्ट्रेशन भी करता हूं और अकाउंट में भी करता हूं ।।


टीडीएस के बारे में पढ़िए।
https://www.ssgst.in/2020/04/what-is-tds-and-why-is-it-deducted.html

इनकम टैक्स के बारे में पढ़िए। 
https://www.ssgst.in/2020/05/who-should-file-income-tax-return.html

cgst sgst और igst के बारे में पढ़िए। 
https://www.ssgst.in/2020/04/cgst-sgst-or-igst-tax-kab-lagaye-jate-he.html

एकाउंटिंग के बड़े में पढ़िए। 
https://www.ssgst.in/2020/04/accounting.html


Registration, Password, Try Again, Email

अब बात करते हैं जीएसटी के दायरे में कौन-कौन आता है।।

दोस्तों टर्नओवर के आधार पर जीएसटी के दायरे में आने की लिमिट दी गई है जैसे किसी फर्म का टर्नओवर ₹2000000 सालाना है तो उसे जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराना होगा पहले की लिमिट 2000000 रुपए थी बट अब यह लिमिट पढ़कर ₹4000000 हो गई है अब अगर किसी का टर्नओवर 4000000 रुपए है तो उनको अपना जीएसटी में रजिस्ट्रेशन करवना होगा 

लेकिन अगर किसी फर्म का टर्नओवर 4000000 से नीचे है तो उसको जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं है वह अपना काम कर सकता है अगर कभी भविष्य में उनका काम 4000000 turn over से ऊपर पहुंचे तो उनको जीएसटी रजिस्ट्रेशन करा लेना चाहिए तभी उस फॉर्म का काम आगे बढ़ सकता है वरन वह फर्म काम नहीं कर पाएगी।।

दोस्तों अगर आपको मेरी पोस्ट पसंद आई हो तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते हैं और अगर आपको मुझसे कुछ पूछना है तो भी आप मुझसे कमेंट करके पूछ सकते हैं मैं आपको 24 घंटे के अंदर रिप्लाई देने की कोशिश करूंगा।।


  Thanks

Comments